बुधवार, 18 मार्च 2009

हिरन बच्चे को मिला नया घर


जंगल से भटक कर आए एक हिरन के बच्चे को लोगों ने पकड़ लिया बाद में उसे दुधवा नेशनल पार्क के पर्यटन परिसर में पहुच कर विश्व प्रक्रति निधि के मुदित गुप्ता तथा पत्रकार डीपी मिश्रा, सोरभ ने बच्चे को जंगल में छोड़कर उसे नया घर में पहुंचा दिया । मालूम हो की जंगल में घास के मैदान उचित प्रबन्धन न होने के कारण बेकार होने लगे हैं इसके कारण बनस्पति आहारी वन्यजीव चारा की तलाश में बाहर आने को बिवश हैं। जहाँ उनका लोग अवैध शिकार करके मार डालते हैं। इस अब्यवस्था के कारण जंगल में वन्यजीवों की कमी ओर उनके बाहर रहने से बनराज बाघ भी जंगल के बाहर आने को बिवश हैं।

2 टिप्‍पणियां:

प्रेम सागर सिंह [Prem Sagar Singh] ने कहा…

आपके प्रयास सार्थक हैं एवं चिंता वाजिब है। आपके द्वारा किये कार्यो के बहुत-बहुत आभर।
आप अपने ब्लॉग से शब्द पुष्टिकरण को हटा दें।

alka sarwat ने कहा…

prakritic sundarta ko danste huye hmare kadam rukenge kaise ?